Indian

Om Jai Jagdish Hare Mp3 Download 320kbps

Om Jai Jagdish Hare Mp3 Download 320kbps — Om Jai Jagdish Hare is a Hindi bhajan that is sung by Shradheya Mridul Krishan Goswami Ji. Provided below are the details for Om Jai Jagdish Hare Mp3 Download 320kbps along with the download link.

  • Song Released on Aug 16, 2015
  • Music Label: Vipul Music Co.
  • Native Language: Hindi
  • Lyricist(s): Traditional
  • Singer(s): Shradheya Mridul Krishan Goswami Ji
  • Song Duration: 6:41 mins

om jai jagdish hare mp3 download 320kbps

Lyrics of the Song

 

ॐ जय जगदीश हरे,

स्वामी जय जगदीश हरे ।

भक्त जनों के संकट,

दास जनों के संकट,

क्षण में दूर करे ॥

॥ ॐ जय जगदीश हरे…॥

जो ध्यावे फल पावे,

दुःख बिनसे मन का,

स्वामी दुःख बिनसे मन का ।

सुख सम्पति घर आवे,

सुख सम्पति घर आवे,

कष्ट मिटे तन का ॥

॥ ॐ जय जगदीश हरे…॥

 

मात पिता तुम मेरे,

शरण गहूं किसकी,

स्वामी शरण गहूं मैं किसकी ।

तुम बिन और न दूजा,

तुम बिन और न दूजा,

आस करूं मैं जिसकी॥

॥ ॐ जय जगदीश हरे…॥

 

तुम पूरण परमात्मा,

तुम अन्तर्यामी,

स्वामी तुम अन्तर्यामी ।

पारब्रह्म परमेश्वर,

पारब्रह्म परमेश्वर,

तुम सब के स्वामी॥

॥ ॐ जय जगदीश हरे…॥

तुम करुणा के सागर,

तुम पालनकर्ता,

स्वामी तुम पालनकर्ता ।

मैं मूरख फलकामी,

मैं सेवक तुम स्वामी,

कृपा करो भर्ता॥

॥ ॐ जय जगदीश हरे…॥

 

तुम हो एक अगोचर,

सबके प्राणपति,

स्वामी सबके प्राणपति ।

किस विधि मिलूं दयामय,

किस विधि मिलूं दयामय,

तुमको मैं कुमति॥

॥ ॐ जय जगदीश हरे…॥

दीन-बन्धु दुःख-हर्ता,

ठाकुर तुम मेरे,

स्वामी रक्षक तुम मेरे ।

अपने हाथ उठाओ,

अपने शरण लगाओ,

द्वार पड़ा तेरे॥

॥ ॐ जय जगदीश हरे…॥

 

विषय-विकार मिटाओ,

पाप हरो देवा,

स्वमी पाप(कष्ट) हरो देवा ।

श्रद्धा भक्ति बढ़ाओ,

श्रद्धा भक्ति बढ़ाओ,

सन्तन की सेवा ॥

॥ ॐ जय जगदीश हरे…॥

 

ॐ जय जगदीश हरे,

स्वामी जय जगदीश हरे ।

भक्त जनों के संकट,

दास जनों के संकट,

क्षण में दूर करे ॥

 

Note:  

Here’s link to the track:

Om Jai Jagdish Hare Mp3 Download 320kbps Here

Also Download O Palan Hare Mp3 Download 320kbps in High Quality Audio

Gaurav Gupta

To be happy one needs a reason and to become sad, a reason too. Take control of your life and nobody can control what you feel.
Back to top button